📲
कैश-हिट हुडा योजनाओं को आबंटियों को तय करने पर सचेतक को क्रैक करने के लिए

कैश-हिट हुडा योजनाओं को आबंटियों को तय करने पर सचेतक को क्रैक करने के लिए

कैश-हिट हुडा योजनाओं को आबंटियों को तय करने पर सचेतक को क्रैक करने के लिए
(Flickr)
नकदी की कमी से जूझना, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) ने उन आवंटियों पर तकरार करने का फैसला किया है जिन्होंने अपनी बकाया राशि का भुगतान नहीं किया है। राज्य के शहरी निकाय को पूरे राज्य में लोगों से 3,333 करोड़ रुपए वसूल करना पड़ता है, जिसमें से गुड़गांव के निवासियों से अकेले 347 करोड़ रूपये बकाया वसूल करना होगा। पिछले दो सालों में हरियाणा सरकार द्वारा इन बकाएदारों को वाणिज्यिक, आवासीय, सामाजिक, धार्मिक, औद्योगिक, संस्थागत और धर्मार्थ संपत्ति आवंटित की गई थी। योजना के तहत, हूडा के अधिकारियों को बकाएदारों, विशेष रूप से 10 लाख रुपए से अधिक की बकाया राशि देने वाले को नाबालिग करने के लिए कहा गया है और उन्हें हुडा अधिनियम की धारा 17 (1) और 17 (2) के तहत नोटिस भेजना है। पर बकाया को खाली करने में विफल रहा, बकाएदारों को कानूनी कार्रवाई का सामना करना होगा इस बीच, गुड़गांव, धरूहेड़ा और रेवारी की 96 वाणिज्यिक संपत्तियों को शहरी निकाय द्वारा बिक्री के लिए सूचीबद्ध किया गया था लेकिन इस साल मार्च में नीलाम किए गए केवल 10 संपत्तियों को ही पंसद करने में कामयाब रहा। शहरी निकाय ने क्षेत्र के सभी विकसित क्षेत्रों में वाणिज्यिक और आवासीय संपत्तियों की नीलामी करने की योजना बनाई है।
Last Updated: Fri Jul 15 2016

समान आलेख

@@Tue Feb 15 2022 16:49:29