📲
हाउस रेंट अलाउंस पर एेसे उठा सकते हैं फायदे, टैक्स में भी मिलेगी छूट

हाउस रेंट अलाउंस पर एेसे उठा सकते हैं फायदे, टैक्स में भी मिलेगी छूट

हाउस रेंट अलाउंस पर एेसे उठा सकते हैं फायदे, टैक्स में भी मिलेगी छूट
Typically, the sale of shares of unlisted companies is treated as capital gains.
हाउस रेंट अलाउंस यानी एचआरए आपके सैलरी पैकेज का अहम हिस्सा है। इसके तहत किसी घर को किराए पर लेने की लागत को पूरा करने के लिए हर महीने आपकी कंपनी आपको एक तय राशि का भुगतान करती है। इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 10 (13ए) के तहत आप टैक्स में छूट भी पा सकते हैं। एचआरए पर टैक्स छूट की गणना कैसे की जाती है, इस पर आपके संदेह को दूर करने के लिए हम कुछ सवाल और उनके जवाब बता रहे हैं:
 
सैलरी और स्वयं रोजगार वाले लोगों के मामले में एचआरए कैसे कैलकुलेट किया जाता है?
इनकम टैक्स एक्ट, 1961 के सेक्शन 10 (13ए) के मुताबिक वेतनभोगी एचआरए छूट का फायदा ले सकते हैं। जबकि स्वयंरोजगार वाले इस कानून के तहत नहीं आते। वे धारा 80 जीजी के तहत घर के किराए के खर्च पर लाभ का दावा कर सकते हैं।
 
सैलरी पाने वालों के लिए एचआरए की गणना किनके आधार पर की जाती है?
सैलरी पाने वालों के लिए एचआरए पर छूट की गणना करते वक्त 4 बातों का ध्यान रखा जाता है:
-सैलरी
-मिला हुआ एचआरए
-दिया गया वास्तविक रेंट
-घर कहां स्थित है (मेट्रो या गैर मेट्रो शहर)
 
अगर ये सभी पहलू पूरे साल स्थिर रहते हैं तो टैक्स छूट की गणना सालाना के रूप में की जाती है। अगर इसमें कुछ बदलाव होता है, जैसे किराए में बढ़ोतरी, सैलरी में इजाफा या निवास में बदलाव इत्यादि, तो राशि की गणना मासिक आधार पर की जाती है। हालांकि सभी चीजें पूरे वित्त वर्ष में एकसमान रहें यह मुश्किल ही होता है। आप कहां रहते हैं यह भी एचआरए की गणना करते वक्त अहम होता है। मेट्रो शहरों में बेसिक पे पर एचआरए में टैक्स छूट 50 प्रतिशत, जबकि गैर मेट्रो शहरों में यह 40 प्रतिशत होता है। 
 
क्या एचआरए का फायदा लेने के लिए मैं अपने माता-पिता या पत्नी को किराया दे सकता हूं?
आप अपने माता-पिता को किराया दे सकते हैं, लेकिन वे भी उसी के लिए टैक्स भुगतान करने के हकदार होंगे। दूसरी ओर आप अपनी पत्नी को किराया नहीं दे सकते। 
 
क्या एचआरए का दावा करने के लिए मुझे कोई सबूत जमा कराने होंगे?
किराये की रसीदों के जरिए आप किराये का सबूत दे सकते हैं। इस पर एक रुपये का राजस्व स्टैंप होना चाहिए। जिस शख्स को किराये का भुगतान किया जा रहा है, उसके दस्तखत, पता, भुगतान की गई राशि और जिसने किराये पर लिया है, उसका नाम इत्यादि होना चाहिए।  
 
अपना एचआरए मैं कैसे कैलकुलेट कर सकता हूं?
आप एचआरए पर कितनी छूट के लिए योग्य हैं, इसके लिए इन तीन फैक्टर्स को ध्यान में रखना जरूरी है:
-वास्तविक किराया भत्ता जो कंपनी आपको  सैलरी के हिस्से के तौर पर देती है।
-जो वास्तविक किराया आप घर के लिए भुगतान करते हैं, उसमें से 10 प्रतिशत बेसिक सैलरी में कटौती की जाती है। 
-मेट्रो शहर में रहते हैं तो आपकी सैलरी का 50 प्रतिशत और गैर मेट्रो शहर में रहते हैं तो 40 प्रतिशत। 
 
इनमें से, न्यूनतम मूल्य वाली राशि को आपके एचआरए में टैक्स छूट के तौर पर इजाजत दी जाती है। अपने एचआरए में टैक्स छूट का ज्यादा फायदा लेने के लिए आप अपना सैलरी पैकेज का पुनर्गठन भी कर सकते हैं। 
 
उदाहरण के तौर पर सुमित कुमार महीने के 40 हजार रुपये कमाते हैं और दिल्ली में उसने 20 हजार मासिक किराये पर अपार्टमेंट लिया हुआ है। जो उसे एचआरए मिलता है, वह 20 हजार रुपये है (एचआरए आमतौर पर मेट्रो शहरों के लिए 50 प्रतिशत और गैर मेट्रो शहरों के लिए 40 प्रतिशत होता है)
 
एचआरए में टैक्स छूट पता करने के लिए इन विकल्पों को ध्यान में रखा जाना चाहिए:
वास्तविक एचआरए-20000 रुपये
बेसिक सैलरी का 50 प्रतिशत: 20 हजार रुपये
सैलरी से 10 प्रतिशत ज्यादा किराया होने पर: 20 हजार-4000 रुपये (40 हजार का 10 प्रतिशत)=16000 रुपये।
 
कुमार के वास्तविक एचआरए छूट के लिए माने जाने वाली रकम ऊपर दिए गए आंकड़ों का न्यूनतम मूल्य होगा। कुमार स्टैंडर्ड टैक्स रेट को 30 प्रतिशत मानते हुए प्रति महीने 4800 रुपये की बचत करेंगे। 
 
क्या मैं एचआरए और होम लोन पर एक साथ टैक्स छूट कैसे पा सकता हूं?
होम लोन और एचआरए पर टैक्स छूट के लिए दो अलग-अलग संस्थाएं हैं और एक दूसरे पर कोई सीधा असर नहीं है। जब तक आप घर के लिए किराये का भुगतान कर रहे हैं, आप सैलरी के एचआरए पर टैक्स छूट का फायदा ले सकते हैं और होम लोन पर भी टैक्स छूट पा सकते हैं। यह उस वक्त भी हो सकता है, जब आपके खुद का घर किराये पर हो या आप दूसरे शहर से काम कर रहे हों। हालांकि आय के अन्य स्रोतों के तहत आपको संपत्ति से मिली किराये की आय को भी दिखाना पड़ेगा। 
Last Updated: Fri May 27 2016

समान आलेख

@@Wed Mar 25 2020 13:11:24